एकादशी पर क्या खाएं और क्या नहीं खाएं | Ekadashi Fasting Rules - Today's Ekadashi

एकादशी पर क्या खाएं और क्या नहीं खाएं | Ekadashi Fasting Rules

जय श्री कृष्ण भक्तो, हमारे हिंदू धर्म में एकादशी व्रत उपवास का बड़ा महत्व बताया गया है। हिन्दू शास्त्रों के अनुसार हर माह में दो एकादशी आती हैं, एक कृष्ण पक्ष में और दूसरी शुक्ल कृष्ण पक्ष में। सभी धर्मों के नियम भी अलग-अलग होते हैं। खास कर हिंदू धर्म के अनुसार एकादशी व्रत करने की इच्छा रखने वाले मनुष्य को दशमी के दिन से ही कुछ ख़ास नियमों का पालन करना चाहिए। इन दिनों कुछ चीजों को सेवन निषेध माना गया है। आइए जानेंते है एकादशी के नियम। (Ekadashi Fasting Rules).

एकादशी के नियम (Ekadashi Fasting Rules) 

एकादशी पर क्या खाएं और क्या नहीं खाएं | Ekadashi Fasting Rules - Today's Ekadashi

हमें एकादशी के दिन यथा‍शक्ति अन्न दान करना चाहिए, किंतु स्वयं किसी अन्य का दिया हुआ अन्न कदापि ग्रहण नही करना चाहिए ।

ऐसा माना जाता है कि एकादशी का व्रत रखने वाले व्यक्ति को दशमी की शाम से ही मसूर की दाल नहीं खानी चाहिए। इतना ही हीं, चने या चने के आटे से बनी चीज से भी परहेज करना चाहिए। 

ये भी पढ़े - २०२२ में एकादशी कब है ? Ekadashi list 2022

इस दिन शहद खाने से भी बचना चाहिए। एकादशी के व्रत में दशमीं के दिन से ही ब्रह्मचार्य व्रत का पूर्ण रूप से पालन करना चाहिए। एकादशी का व्रत भगवान विष्णु (Lord Vishnu) को समर्पित है। 

एकादशी व्रत के दौरान क्रोध और द्वेष भावना नहीं रखनी चाहिए। इस व्रत में अन्न बिलकुल नहीं खाया जाता। 

एकादशी के दिन प्रात: लकड़ी का दातुन न करें। इस दिन वृक्ष से पत्ता तोड़ना मना है। अत: स्वयं गिरा हुआ पत्ता लेकर सेवन करें। नींबू, जामुन या आम के पत्ते लेकर चबा लें और अंगुली से कंठ साफ कर लें। यदि यह संभव न हो तो पानी से बारह बार कुल्ले कर लें।

एकादशी पर श्री विष्णु की पूजा में मीठा पान चढ़ाया जाता है, लेकिन इस दिन पान खाना वर्जित है।  

अगर किसी कारणवश निराहार रहकर व्रत करना संभव न हो तो एक बार भोजन कर शकते है। 

हमें प्रत्येक वस्तु प्रभु विष्णु को भोग लगाकर तथा तुलसी दल छोड़कर ग्रहण करना चाहिए।

Next Ekadashi 2022 - अगली एकादशी कब है 2022 - Today Ekadashi

एकादशी के दिन क्या खाए

  • एकादशी व्रत में शकरकंद, कुट्टू, आलू, साबूदाना, नारियल, काली मिर्च, सेंधा नमक, दूध, बादाम, अदरक, राजगिरा के आटे के रोटी या पूरी, चीनी आदि पदार्थ खाने में शामिल कर सकते हैं।
  • फलों में केला, आम, अंगूर इत्यादि अमृत फलों का सेवन करें।
  • सूखे मेवे जैसे बादाम, पिस्ता आदि का सेवन किया जा सकता है।
  • इस व्रत में सात्विक भोजन करें।

एकादशी के दिन क्या ना खाए

  • एकादशी (ग्यारस) के दिन व्रतधारी व्यक्ति को अन्न खाना मना होता है और गाजर, शलजम, गोभी, पालक, इत्यादि का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • एकादशी का उपवास रखने वालों को दशमी के दिन मांस, लहसुन, प्याज, मसूर की दाल आदि निषेध वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • एकादशी तिथि पर जौ, बैंगन और सेमफली नहीं खानी चाहिए। 
  • मांस-मदिरा या अन्य कोई भी नशीले पदार्थ का सेवन नहीं करें।

समापन - 

भक्तो, हमे आशा है की आपको हमारी ये पोस्ट मे एकादशी व्रत पर क्या खाएं और क्या नहीं खाएं ये हमने विस्तारसे बताया है तो ये लेख आपको पसंद आया होगी, यदि अभी आपके मन मे इस पोस्ट को लेकर आप चाहते है की इसमे कुछ सुधार की जरूरत है, तो  आप नीचे comments मे लिख सकते है। आपके इस सुजाव को हम तुरंत अनुकरण करके पोस्ट मे सुधार करेंगे। यदि आपको हमारा यह पोस्ट “Ekadashi Fasting Rules” अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो, अपनी प्रसनता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Media जैसे की Facebook, Twitter, Instagram और Whatsapp इत्यादिक पर Share जरूर कीजिए। धन्यवाद। 

II जय श्री कृष्ण II 

Post a Comment

0 Comments

मोहिनी एकादशी व्रत कथा एवं पुजा विधि  | Mohini Ekadashi Katha and Importantce - Today Ekadashi